संदीप माहेश्वरी……………………….देवेश दीक्षित

संदीप माहेश्वरी की कला को

करते हैं हम प्रणाम

कैसी कैसी फोटो देखो

खींच के करे बड़ा नाम

 

जितनी बार भी बदला काम को

फिर भी न मिला परिणाम

सफलता न मिली संदीप को

फिर भी न मानी हार

 

मध्यम वर्ग में संदीप जन्मे

धन का था अकाल

अधिक परिश्रम किया उन्होने

कायम की मिशाल

 

अपने मन का व्यवसाए चुन के

उसमें भी लिया ज्ञान

फोटोग्राफी के छेत्र में बढ़ के

दिलों पर किया राज

 

कई अवार्डों से सम्मानित हुए

मुफ्त में किए सेमिनार

लोग जो थे हारे हुए

दिखाया उनको मार्ग

 

उनके इस कार्ये से

सब हुए निहाल

आशीर्वाद है ईश्वर का उन पे

जो की गाथा है उनकी बेमिशाल

………………………………………………………..

देवेश दीक्षित

7982437710

Leave a Reply