रक्षा बंधन…………………………देवेश दीक्षित

बहना लेकर बैठी राखी

कब भईया आएगा

लगा के तिलक बांध के राखी

वो मिठाई खाएगा

उपहार मैं लूंगी

उससे बड़ा, बच के न जा पायेगा

बहना बैठी बाट में तेरी

आजा कितना तड़पाएगा

बलैयां लूंगी मैं तेरी

तुझ से दुश्मन भी थर्राएगा

100 -100 पर पड़ेगा भारी

तिरंगा भी अपना फहराएगा

बहना लेकर बैठी राखी

कब भईया आएगा

लगा के तिलक बांध के राखी

वो मिठाई खाएगा

………………………………………………..

देवेश दीक्षित

7982437710

Leave a Reply