प्रेम……………………………देवेश दीक्षित

प्रेम करो जीवन में

जीवन सफल हो जाएगा

यही ईश्वर का संदेश है

इसी से जग सुंदर बन जाएगा

बगिया में जैसे फूलों की खुशबू है

वैसे ही अपना ये जग महकेगा

बंद करो ये लड़ाई– झगड़े

इससे न जीवन सफल होगा

मार– काट और गाली– ग्लौच से

सिर्फ मन है विक्षिप्त होता

चारों तरफ अधिक भय से

माहौल है आतंकित होता

खत्म अभी भेद– भाव करें

झगड़ा न समस्या का समाधान होता

प्रेम से ही समस्या के निवारण होते

प्रेम से ही परमात्मा का मार्ग है मिलता

………………………

देवेश दीक्षित

7982437710

Leave a Reply