तीर कमान……………………देवेश दीक्षित

तीर कमान सा कस के

मत रह मेरे यार

जिन्दगी को जिओ आगे बढ़ के

मत कर इसमें बवाल

 

हर तरफ दुख है उदासी है

मत इसको तू पाल

तन्हाई है हर तरफ जीवन में

एक बार जिन्दगी से तू कर प्यार

 

सारी दुनिया अपनी है

एक बार इसका कर तू ख्याल

बच्चा बनकर जिन्दगी में

सबसे कर तू प्यार

 

लड़ाई झगड़े सब भूल के

ईश्वर से कर फरियाद

जिन्दगी बहुत अनमोल है

मत कर इसे बर्बाद

 

बच्चे जैसे रहते जिन्दगी में

प्रसन्न और खुशहाल

नहीं किसी से भेद भावहै

नहीं किसी से मलाल

 

बस जिन्दगी को देखो दिल से

हो जाएगा तुमको प्यार

तीर कमान सा कस के

मत रह मेरे यार

……………………………..

देवेश दीक्षित

7982437710

Leave a Reply