क्षणिका

अस्मत लूटी, मर्दानगी दिखाई, मज़ा न आया .

सरेराह क़त्ल कर दीये,सारे शहर के सामने .

सहम गये सब के सब,हर कोई डर गया .

दूसरे दिन अख़बार में कुछ और ही छपा  था.

की वो लड़की जिंदा है और सारा शहर मर गया ..