वक़्त बदलेगा:-विजय

जो हिंसा से बैर करेगा
रब उसकी सब खैर करेगा
बंदे खुद को न कमजोर समझ तू
रब सबकी नैया पार करेगा

वक़्त ये मुश्किल कट जाएगा
दर्द का बादल सब छट जाएगा
कर खुद पर विश्वास जरा तू
ईश्वर सबका उद्धार करेगा

विफल चाल काल का हो जाएगा
हालात सबका संवर जाएगा
अपने लक्ष्य-पथ पर बढ़ता जा तू
अल्लाह तेरी हर फरियाद सुनेगा

गम का मीनार भी गिर जाएगा
महल खुशी का बन जाएगा
श्रम-बल पर ही अड़ा रहे तू
किस्मत तेरी खुद पग पकड़ेगा

4 Comments

  1. डी. के. निवातिया 20/07/2020
    • vijaykr811 21/07/2020
  2. DEVESH DIXIT 25/07/2020
    • vijaykr811 30/07/2020

Leave a Reply