चीन चरित्र

चीन का यह इतिहास रहा है जबड़े में उसके माँस रहा है निर्मम, निर्दयी और घातक जालिम ही अहसास रहा है हमने खाई भाई कि कसमें दगा उसका प्रयास रहा है खंजर खोपने का जो आदी आँख का केवल फाँस रहा है सेकता जो कब्र पर रोटी एक ऐसा बदमाश रहा है आतंक का परोक्षक जो पाक का हमेशा खास रहा है कमाकर हमसे जो घर भरता अंजाम हमारी लाश रहा है जो जी भर गया हो तो जागो ये अंजाम सभी के साथ रहा है

Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды в день обращения. Взять потребительский кредит онлайн на выгодных условиях в в банке. Получить кредит наличными по паспорту, без справок и поручителей

4 Comments

  1. DEVESH DIXIT 26/05/2020
  2. Rakesh Kumar 31/05/2020
  3. kiran kapur gulati 07/06/2020
  4. Rakesh Kumar 13/06/2020

Leave a Reply