Kuch Sawal

कब सडक बनेगी, कब सडन थमेगी, कब ना जाने यह प्रदूषण ढलेगा । समस्याएॅ बदलें या ना बदलें…. आवाम में सिर्फ साल बदलेगा ।। कुछ नून और कुछ तेल, कुछ कोयला तो यहाँ रोज लूटेगा । चोर बदले या ना बदले…. बाजार में सिर्फ मलाल बदलेगा ।। कभी गाय बँटेगी, कभी गाय कटेगी, कभी उसका दाम लगेगा । हालात बदलें या ना बदलें…. गौशाला में सिर्फ ग्वाल बदलेगा ।। कहीं मां दीन है, कहीं पिता हीन है, कहीं ये समाज आज जरूर रोएगा । तेरी कहानी में बदले या ना बदले…. मेरी कहानी में सिर्फ लाल बदलेगा ।। कहाँ है राम, कहाँ है श्याम, कहाँ वो राम राज्य है बसेगा । राष्ट्र बदले या ना बदले…. अयोध्या में सिर्फ द्वारपाल बदलेगा ।। कैसे बचे कुरूवंश, कैसे बचे द्रौपदी लज्जा, कैसे अभिमन्यु वध है टलेगा । धर्मरक्षक बदलें या ना बदलें… जब शकुनि सिर्फ चाल बदलेगा ।। क्या ज्ञात होगा, क्या घात होगा, क्या द्रोही सिर्फ नया वेश धरेगा । लिबास बदले या ना बदले…. आस्तीन का सांप सिर्फ खाल बदलेगा ।। कौन है बस बात, कौन है सच साथ, कौन विश्वास अब किसी पर करेगा । इंसान नीयत बदले या ना बदले…. तब तक हुजूर सिर्फ सवाल बदलेगा ।।

Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды в день обращения. Взять потребительский кредит онлайн на выгодных условиях в в банке. Получить кредит наличными по паспорту, без справок и поручителей

Leave a Reply