एक लड़का था दीवाना सा

एक लड़का था दीवाना साइंजीनियरिंग इंजीनियरिंग वो करता थालिखते लिखते फाइनल ईयर का एग्जाम ,कर गया अपनी ज़िन्दगी एक लड़की के नाम .एग्जाम के रिजल्ट का कैसा ये हाल हुआ ,सत्तर से पैसठ हुए , कैसा सत्यानाश हुआ .खो जाने के दर से , फुट फुटकर रोया था ,हर बार ब्रेकअप के बाद , उसके चरणों में जा गिरा था .एक लड़का था दीवाना सागीतों में पूरी ज़िन्दगी का सार देखने लगा ,मीरा के भजन किचन में गाने लगा .कभी हसता था कभी रोता था ,लेकिन रात को 2 पैग लगा के सोता था .एक लड़का था दीवाना साहुआ प्रेम सफल उसका , सिर पर बैठी नारी ,गृह नक्खत्तरो की दिशा पलटी , शनि हो गया भारी .चलता था अकड़ के कॉलर पकड़के टाइट ,अब उठता है शॉपिंग मॉल में उसके बैग्स वाइट .क्रेडिट कार्ड के पेमेंट से जेब थी उसकी खाली ,फिर भी दिल धक्के मार रहा था , क्युकी ऑफिस में आई थी नई बगलवाली .एक लड़का था दीवाना साब्रेकअप ब्रेकअप करता था , हुआ ब्रेकअप जबसे ,माँ कसम कितना कुश था वो , ये बताऊ कैसे .देखकर उसके प्रेम कहानी की एंडिंग ,मेरा सिर चकरा गया ,जिससे ब्रेकअप किया था उसीसे शादी कर गया .देख के उसको एक बात समझ आई ,ज़िन्दगी और कुछ नहींबस Ex और Next की कहानी है .कोशिश हमने भी की थी किसीको पटाने की ,दर्द मिला इतना , जरुरत पड़ी झंडू बाम से नहाने कीक्युकी उसकी गली से हम गुजरे थे अजीब इत्तेफाक था ,उसने मेरी तरफ फूल फेका गमला भी साथ था .

Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды в день обращения. Взять потребительский кредит онлайн на выгодных условиях в в банке. Получить кредит наличными по паспорту, без справок и поручителей

Leave a Reply