सासू माँ के लिए

जबसे आपको मैंने जाना है
सासू मां नहीं ‘मां’ ही माना है
और इस सब में मैंने समझा
होता क्या बेशर्तें अपनाना है |
जिस निस्वार्थता से आपने मुझे प्यार दिया है
दुलार, समझाइश और आशीर्वाद दिया है
उसको मैंने अपने मन में
सबसे ज़्यादा मान दिया है |
एक अध्यापिका हो या एक गृहिणी
हर किरदार आपने बखूबी निभाया है
एक मां का हो या एक पत्नी का
हर स्त्री-रूप साकार कर दिखाया है |
सबका ध्यान रखने वाली आप
आदर सत्कार की पात्र हैं
यूं ही नहीं की आप सबसे अच्छी
ये कहने की बात है |
परिवार के प्रति भागदौड़ में
शायद अपनी कुछ खुशियों को आप जी ना सके
यही यत्न करेंगे अब हम
की कोई ख़्वाहिश आपकी अधूरी ना रहे ।

Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды в день обращения. Взять потребительский кредит онлайн на выгодных условиях в в банке. Получить кредит наличными по паспорту, без справок и поручителей

Leave a Reply