महामारी (कोरोना)

चीन ने किया है ऐसा वारपूरी दुनिया गई है हारइसके लक्षण हैं तज बुखार, सिर दर्द और साँस लेने में तकलीफ,लोग माँग रहे हैं जान की भीखइससे बचना है तो हाथ बार-बार धोना हैइस घातक बीमारी का नाम ‘कोरोना’ है’1720′, ‘1820’ और ‘1920’आखिर क्या है इस ’20’ का राज?पहले भी ऐसे ही आ रही थी मौत की आवाजअब फिर ‘2020’ में जी उठा है शैतानजिससे सबसे पहले संक्रमित हुआ चीन का ‘वुहान’चमगादड़, साँप, बिच्छू सबको बना रहे हैं आहारचीन की क्रूरता से खतरे में है आज पूरा संसारभगवान ने दिया है सबको जीने का अधिकारसभी चार पैर वालों पर फिर तुम क्यों करते हो प्रहार?तुम्हारे स्वाद से आज पूरा विश्व है लाचारखुदा भी इनकी निर्दयता देखकर कहेगा:चीन वालों तुम पर है धिक्कार!आज हर इंसान की खतरे में है जानमहामारी की आड़ में डूब रही देश की शानलोग सैनिटाइजर और मास्क के कारोबार के घोटाले से बन रहे हैं धनवानआज लोगों में जरा भी इंसानियत नहीं बची है,एक दिन पैसा होगा लोगों से बढ़कर, हमें नहीं था ज्ञान,अपने फायदे के लिए लोगों को कर रहे हैं कुरबानये सारा पैसा धरा रह जाएगा एक दिन यहींमौत के बाद लोग जहाँ जाते हैंसबको जाना है एक दिन वहींइस आपदा को नियंत्रण में लाने के लिएप्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने ‘जनता कर्फ्यू’ का चलाया प्रावधानऔर कहा सभी देशवासियों से की रहे सावधानजो नहीं मानते वे हैं इस बात से अज्ञातइस ‘वायरस’ को कोई भी भाए बच्चा, बूढ़ा और जवानजो करे समर्थन देश का, वही है सच्चा इंसानजिस प्रकार ‘इटली’ में रोजाना जा रही है लोगों की जानदिन प्रतिदिन ये देश बनता जा रहा है शमशानअगर ‘भारत’ में नहीं चाहते हो ऐसा हालतो घर पर रहकर दो देश का साथवरना सोचते रह जाओगे, ये महामारी चलेगी ओर कितने साल?हर 100 साल में क्यों मौत का खेल खेला जा रहा है?अपनों के मरने के गम में हर कोई आँसू बहा रहा हैकितना अजीब सा है ये खेलजो गलती लोगों ने की ही नहीं, उसे रहे हैं झेलहर 100 साल में महामारियों का क्या है मेल?जिनको हो रहा है ये वायरसवे काट रहे हैं बिना अपराध की जेलअपने ही घर से बाहर निकलने में आज डर रहे हैं कुछ लोगचीन ने कैसा फैला दिया है ये रोगजो गलती लोगों ने की ही नहींउसकी सजा रहे हैं वे भोगलोगों में फैल रहा है इस प्रकार कोरोना का डरहजारों की तादाद में लोग रहे हैं मरइस जानलेवा वायरस का मिला नहीं अभी कोई तोड़इसके डर से सुनसान पडे हैं गली और रोड कभी सोचा भी न था कि, जिंदगी लेगी ऐसा मोड़कि लोग घरों में रहकर कहेंगे, कोरोना अब तो हमारा पीछा छोड़हे भगवान! आपसे बस यह विनती है हमारीपड गई है संकट में आज दुनिया सारीदुनियाभर में तेजी से फैल रही है ये महामारीबेगुनाह लोगों पर हो रही है भारीआप हमें इस आपदा से बचा लोहम आप पर रहेंगे जीवनभर आभारी!गलती एक देश की भुगत रहा पूरा संसारचीन ने किया है ऐसा वार!!

Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды в день обращения. Взять потребительский кредит онлайн на выгодных условиях в в банке. Получить кредит наличными по паспорту, без справок и поручителей

Leave a Reply