सूरज की किस्मत – शिशिर मधुकर

तूफान आते रहेंगे जीवन भी चलता रहेगा मिले ना मिले तू मुझे पर प्यार अपना पलता रहेगा ठोकर लगे ना तो जीवन में कोई दर्द को ना जाने गिरता रहेगा ये इंसा और फिर से संभलता रहेगा इस घट में पानी बहुत है इसकी ना परवाह करो तुम इसे आंच मिलती रहेगी ये हरदम उबलता रहेगा राहें अगर संकरी हैं धारा को क्या दोष देना बहता हुआ फिर तो पानी हरदम उछलता रहेगा भले लाभ उससे उठाएं मगर पास कोई ना जाए सूरज की किस्मत यही है अकेले वो जलता रहेगा शिशिर मधुकर

Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды в день обращения. Взять потребительский кредит онлайн на выгодных условиях в в банке. Получить кредит наличными по паспорту, без справок и поручителей

Leave a Reply