“फूलों की जिंदगी”

फूलों की जिंदगी कितनी प्यारी हैजो की खिलते हैंमहकते हैंऔर महकाते हैंअद्भुत इनकी क्यारी हैजिन पर ये फूल लहलहाते  हैं कुछ तो ईश्वर केचरणों की शान हैंकुछ शहीदों पर चढेबढ़ाते उनकी शान हैंवो तो इनका सौभाग्य हैजिनके पूरे हुए अरमान हैं टूट कर फिर बिखर जाते हैंफिर भी महकते हैंकुछ राहों पर हैं पड़ेकुचल गए उनके मंसूबे हैंतब दिल में उठती एक टीस हैजिससे पनपती मन में खीस है जिसने दुनिया को महकाया हैजिसने आँगन को महकाया हैदुख भी उसी को पहुंचाया हैजिसने हर झटके को अपनाया हैनिर्मल जिसकी काया हैउसी को दुनिया ने भरमाया है फिर भी वो निश्छल हैपवित्र और निर्मल हैखुशबू जिसका सम्मान हैचाहता उसको हर इंसान हैसारी दुनिया जिससे अंजान हैअसल में वही बड़ा धनवान है फूलों जैसी दुनिया सारी होऔर न कहीं मारा – मारी होन द्वेष, अहं से भरा हुआ होसिर्फ प्रेम, स्नेह से भरा हुआ होलीला ऐसी प्रभु तुम्हारी होसारी दुनिया एक फुलवारी हो——————————————————————————————————————————देवेश दीक्षित7982437710

Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды в день обращения. Взять потребительский кредит онлайн на выгодных условиях в в банке. Получить кредит наличными по паспорту, без справок и поручителей

2 Comments

  1. vijaykr811 14/02/2020
  2. DEVESH DIXIT 15/02/2020

Leave a Reply