काश दिमाग मेरा कम्प्युटर होता

काश दिमाग मेरा कम्प्युटर होतासारे जहां की जानकारी भर लेताजिंदगी में कभी निराश न होताभूलने की आदत से परेशान न होता कुछ न कुछ हांसिल कर लेतामंजिल से कभी दूर न होताहर दिल को भी मैं छू लेताजहां में सारे मेरा नाम होता चतुर – चालाकी से दूर न होतादुनिया की नजर में मूर्ख न होतासब बातों का जानकार मैं होतासबको आश्चर्यचकित मैं करता हर समस्या का हल मैं होतासब संकटों का निवारण मैं होताकाश दिमाग मेरा कम्प्युटर होतातो मैं जिंदगी में यों न खोता स्थिति से आज मजबूर न होताजिंदगी में कभी नाकाम न होताकाश दिमाग मेरा कम्प्युटर होतातो आज मैं काबिल इंसान होता………………………………………………………………………………………………. देवेश दीक्षित7982437710

Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды в день обращения. Взять потребительский кредит онлайн на выгодных условиях в в банке. Получить кредит наличными по паспорту, без справок и поручителей

2 Comments

  1. vijaykr811 vijaykr811 30/12/2019
  2. deveshdixit DEVESH DIXIT 31/12/2019

Leave a Reply