शुक्रिया अदा करना – डी के निवातिया

शुक्रिया अदा करना

!

जाते हुए लम्हों को ज़रा हँसते हँसते विदा करना
पल ख़ुशी के थे या गम के, शुक्रिया अदा करना !

लौटकर न आएगी ये फ़िज़ा, ये बहारों के मौसम
दिन, महीने, साल में याद हमे यदा-कदा करना !!

आना वाले को जाना है जरूर, ये दस्तूर पुराना है
जाते को विदा, हर आते का सत्कार सदा करना !!

न आये लम्हा कभी जिंदगी में खफा हो दिलबर,
मुझ पर रहम-ओ-करम इतना या खुदा करना !!

आएगा वक़्त ऐसा भी एक दिन, हम जुदा होंगे,
दिल से “धर्म” की यादो को न कभी जुदा करना !!

!

डी के निवातिया

Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды в день обращения. Взять потребительский кредит онлайн на выгодных условиях в в банке. Получить кредит наличными по паспорту, без справок и поручителей

7 Comments

  1. C.M. Sharma 24/09/2019
    • डी. के. निवातिया 25/09/2019
  2. sarvajit singh 24/09/2019
    • डी. के. निवातिया 25/09/2019
  3. Shishir "Madhukar" 26/09/2019
    • डी. के. निवातिया 05/10/2019
  4. AYAN 31/01/2020

Leave a Reply