तू भी आज बरस जा बदरा

👉दिनांक : ३०-०१-२०१९👉दिन : बुधवार👉विधा : मुक्तछंद💐💐💐💐💐💐💐💐तू भी आज बरस जा बदराछलक रहे नयनन से नीर ।💐पीहर छूटा, सखियाँ छूटींबचपन का संसार गयायौवन आते सारे बिछड़ेरक्तबन्ध भी हार गयाएक अनजाने बंधन मेंसुधियों की पहचानी पीरतू भी आज बरस जा बदराछलक रहे नयनन से नीर ।💐सबकुछ सौंपा साजन कोवो मुझसे मुख मोड़ गएसौतन से वो प्रीत लगाकरमुझसे रिश्ता तोड़ गएये कैसा गठबंधन पायाधरी न जाए मुझसे धीरतू भी आज बरस जा बदराछलक रहे नयनन से नीर ।💐सूनी-सूनी सेज देखकरअगन विरह की खूब सतातीसूनी-सूनी गोद पड़ी हैकिसकी सुध जीवन जी पातीशिखर हिम सा पिघल रहा हैबहता दृग की छाती चीरतू भी आज बरस जा बदराछलक रहे नयनन से नीर ।💐नारी का ये जीवन कैसाजगत जननी है कहलातीममता के कितने रूपों कोखुद को बाँट के दिखलातीरिश्तों की खातिर जीवन मेंसह लेती है वह सारे तीरतू भी आज बरस जा बदराछलक रहे नयनन से नीर ।💐तू भी आज बरस जा बदराछलक रहे नयनन से नीर ।💐💐💐💐💐💐💐💐👉स्वरचित, स्वप्रमाणित👉विजय कुमार सिंह👉पटना, बिहार[email protected]सर्वाधिकार सुरक्षित

Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды в день обращения. Взять потребительский кредит онлайн на выгодных условиях в в банке. Получить кредит наличными по паспорту, без справок и поручителей

4 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 30/01/2019
  2. Bindeshwar prasad sharma Bindeshwar prasad sharma 30/01/2019
  3. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 02/02/2019

Leave a Reply