माँ — मधु तिवारी

💐माँ 💐 …. मधु तिवारीमाँ तेरी ममता का, मोल नहीं है।इससे ज्यादा कुछ,अनमोल नहीं है।कोख से जनम दिया,अमृत पिलाया हैएक-एक निवाला, तूने खिलाया हैतेरे प्यार का कहीं तोल नहीं है।माँ तेरी ममता का मोल नहीं है।सामर्थ्य सेअधिक सब कुछ लुटाया हैसंतत के लिए तूने सब जुटाया हैठोस,कहीं ममता मे पोल नहीं है।माँ तेरी ममता का मोल नहीं है।अनपढ़ रहे पढ़ी, ज्ञान उसे दिलाती होडगर यही चलके,जगत से मिलाती होसाथी हो खूब,कहीं झोल नहीं है।माँ तेरी ममता का मोल नहीं है।सहती है कष्ट पर बेटे को पालतीतहे दिल से उसको,माँ ही संभालतीनेह मे है दृढ़ता,कभी ढोल नहीं है।मां तेरी ममता का मोल नहीं है।रीत को निभाने, बेटी को जुदा कियाउसे अपने घर से,सीख दे विदा कियासीख से बड़ा, कोई बोल नहीं है।माँ तेरी ममता का मोल नहीं है।✍🏻श्रीमती मधु तिवारी, दुर्ग,छत्तीसगढ़💐💐💐💐💐💐💐

Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды в день обращения. Взять потребительский кредит онлайн на выгодных условиях в в банке. Получить кредит наличными по паспорту, без справок и поручителей

5 Comments

  1. Shishir "Madhukar" 15/10/2018
    • Madhu tiwari 17/10/2018
  2. Rajeev Gupta 16/10/2018
    • Madhu tiwari 17/10/2018
  3. Bhawana Kumari 19/10/2018

Leave a Reply