लपेटे—संकलनकर्ता: महावीर उत्तरांचली

(1.)कफ़न से मुँह लपेटे मेरी हसरतदिल-ए-वीराँ के कोने में पड़ी है—बयान मेरठी(2.)उस पे कल रोटियाँ लपेटे सबकुछ भी अख़बार से नहीं होता—महावीर उत्तरांचली(3.)’सरवत’ हर एक रुत में लपेटे रही जिसेवो ना-मुराद आस की चादर भी फट गई—नूर जहाँ सरवत(4.)हाथ में मिशअल लिए हर सम्त पहरे पर रहोरात की चादर लपेटे हमला-आवर आएगा—ओवेस अहमद दौराँ(5.)ख़ुद को लपेटे रहना ज़माना ख़राब हैज़ाहिर किया तो लूट लिए जाओगे मियाँ—इंतिख़ाब सय्यद(6.)ख़्वाब लपेटे सोते रहना ठीक नहींफ़ुर्सत हो तो शब-बेदारी किया करो—राहत इंदौरी(7.)कफ़न का गोशा-ए-दामन तो उलटोये हसरत मुँह लपेटे क्यूँ पड़ी है—रियाज़ ख़ैराबादी(8.)पड़े रहते हो पहरों ही मुँह लपेटेवो जल्सा कहाँ है वो सोहबत कहाँ है—निज़ाम रामपुरी(9.)मसर्रतों से कहीं दिल-रुबा सितम निकलालपेटे शाल बहुत ख़ुशनुमा उदासी की—जाफ़र साहनी(10.)सोते हों चाँदनी में वो मुँह लपेटे और हमशबनम का वो दुपट्टा पट्ठे उलट रहे हों—इंशा अल्लाह ख़ान(11.)यूँ तो रवाँ हैं मेरे तआक़ुब में मंज़िलेंलेकिन मैं ठोकरों को लपेटे हूँ पाँव में—ख़ातिर ग़ज़नवी(12.)लपेटे नूर की चादर में दर्द के साएभटक रहा है कोई शब-नवर्द शाख़ों पर—जमुना प्रसाद राही(13.)हसीन होते हैं दिन ख़्वाब से लपेटे हुएगुलाब करती हैं रातें महक मोहब्बत की—नाज़ बट(14.)फ़ुर्क़त में मुँह लपेटे मैं इस तरह पड़ा हूँजिस तरह कोई मुर्दा लिपटा हुआ कफ़न में—अमीर मीनाई(15.)खुली खिड़की पे इक बूढ़ा कबूतरपरों में मुँह लपेटे सो रहा है—मोहम्मद अल्वी(16.)कहीं बर्फ़ लपेटे बैठा है कहीं रेत बिछा कर लेटा हैकभी जंगल में डेरा डाले कभी बस्ती आन बसे दरिया—अली अकबर अब्बास(17.)मुझे ख़ुशबू लपेटे जिस्म कुछ अच्छे नहीं लगतेमगर उस को मिरा ख़ाली बदन भी काटता होगा—फ़ज़्ल ताबिश(18.)चुपके चुपके कफ़न लपेटे निकलेंगे जब हम घर सेलाख बुलाओगे रो रो कर हरगिज़ आँख न खोलेंगे—मुश्ताक़ सिंह(19.)ख़ुदा ख़ुदा कर के आए भी वो तो मुँह लपेटे पड़े हुए हैंन कहते हैं कुछ न सुनते हैं कुछ कसी से जैसे लड़े हुए हैं—मिर्ज़ा आसमान जाह अंजुम(20.)कलेजा मुँह को आता है शब-ए-फ़ुर्क़त जब आती हैअकेले मुँह लपेटे रोते रोते जान जाती है—आसी ग़ाज़ीपुरी(साभार, संदर्भ: ‘कविताकोश’; ‘रेख़्ता’; ‘स्वर्गविभा’; ‘प्रतिलिपि’; ‘साहित्यकुंज’ आदि हिंदी वेबसाइट्स।)

Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды в день обращения. Взять потребительский кредит онлайн на выгодных условиях в в банке. Получить кредит наличными по паспорту, без справок и поручителей

One Response

  1. C.M. Sharma 04/07/2018

Leave a Reply