आना तू फिर से

ओ मेरी रानी तेरी कहानीतुझको सुनाऊंगाबातें बनाऊँगाआना तू फिर सेआना तू फिर से भइया मै तेराकन्हैया मै तेरानाचूंगा गाऊंगाबंशी बजाऊंगाआना तू फिर सेआना तू फिर से।।आंगन की कलियांमुहल्ले की गालियांझोंके पवन केझरोखे गगन केगुमसुम हैं सारेतुमको पुकारेआना तू फिर सेआना तू फिर सेकिताबों के पन्ने खुले रह गएकि कुछ पढ़ के तुमने छोड़ा जहां थाकलम की उमंगों की ख्वाहिश अधूरीकि कुछ लिख केतुमने रोका जहां थाकरने को पूरीकहानी अधूरीआना तू फिर से आना तू फिर से।ग़म की चुभन मेंहंसी मखमली सीअंधेरों में जीवन कीतुम रोशनी सीपर्वत सरीखीतुम्हारी ऊंचाईपीड़ा की आंधीहिला भी न पाईसहनशीलता कीप्रतिमान बनकरधरा पर धरा कीपहचान बनकरआना तू फिर सेआना तू फिर से।अब हौंसलों में रौनक नही हैतुम जो गए कोई दौलत नही हैखाली है कमराआंगन बगीचासूखी लताओं कोतुमने था सींचाजूही के पत्तों पेओस की बूंदेतरसे तुम्हारीनिगाहों को ढूंढेभरने को जीवन मेंजीवन की धाराहृदय ने लरज़तेलबों से पुकाराआना तू फिर सेआना तू फिर से।।देवेंद्र प्रताप वर्मा”विनीत”

Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды в день обращения. Взять потребительский кредит онлайн на выгодных условиях в в банке. Получить кредит наличными по паспорту, без справок и поручителей

4 Comments

  1. Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 29/04/2018
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 30/04/2018
  3. Bhawana Kumari Bhawana Kumari 30/04/2018
  4. C.M. Sharma C.M. Sharma 01/05/2018

Leave a Reply