मेरी – तेरी – बिन्देश्वर प्रसाद शर्मा (बिन्दु)

ये मेरी – तेरी, इसकी – उसकी क्या हैरिश्ता – नाता, ये इश्क – मुहब्बत क्या है। ये लेना-देना, ये बुरा – भला क्या हैहम तुम और मैं, जिसका – तिसका क्या है। भ्रम का तमाशा, पराया – अपना क्या है माया ममता लोभ क्रोध, लालच क्या है। चोरी – डाका लूट, घूस बजारी क्या है छल – कपट धोखा, अपहरण – हत्या क्या है। ये गिरना – उठना, हंसना – रोना क्या है नखरा – वखरा, ये झूठा – सच्चा क्या है।दुनिया इतनी रंग – बिरंगी, साथी संगी क्या है ये तन माटी का पुतला, जीना – मरना क्या है। कल जो बीता आज नहीं, फिर से कल क्या हैइसी सोच में दुनिया पागल, ये हलचल क्या है। उल्टी – सीधी शोर शराबा, हब्बा – डब्बा क्या हैछोड़ो उसको मारो लाठी, समझो-बूझो ये क्या है। जागो समझो ए मानस, हम तुम में वैर नहीं हैजात पात पर लडते हो, प्रेम तो समझो क्या है। बहुत हो गयी दुनिया दारी, झूठी – सच्ची यार चार दिन की जिंदगी है, खुलकर कर लो प्यार।

Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды в день обращения. Взять потребительский кредит онлайн на выгодных условиях в в банке. Получить кредит наличными по паспорту, без справок и поручителей

24 Comments

  1. Bhawana Kumari 09/04/2018
    • Bindeshwar prasad sharma 11/04/2018
  2. डी. के. निवातिया 09/04/2018
    • Bindeshwar Prasad sharma 10/04/2018
  3. Abhishek Rajhans 10/04/2018
    • Bindeshwar prasad sharma 11/04/2018
  4. C.M. Sharma 10/04/2018
    • Bindeshwar prasad sharma 10/04/2018
      • डी. के. निवातिया 10/04/2018
      • C.M. Sharma 13/04/2018
    • Bindeshwar Prasad sharma 10/04/2018
    • Bindeshwar prasad sharma 11/04/2018
  5. Chandramohan Kisku 10/04/2018
  6. Chandramohan Kisku 10/04/2018
    • Bindeshwar prasad sharma 11/04/2018
  7. Anu Maheshwari 10/04/2018
    • Bindeshwar prasad sharma 11/04/2018
  8. Bindeshwar prasad sharma 13/04/2018
    • Bindeshwar Prasad sharma 18/04/2018
  9. Bindeshwar Prasad sharma 18/04/2018
  10. Ram Gopal Sankhla 19/04/2018
  11. Bindeshwar Prasad sharma 19/04/2018

Leave a Reply