अगर मैं लड़की होता

शीर्षक–अगर मैं लड़की होताअगर मैं लड़की होतातो क्या सबकुछ होता ऐसाजैसा होता आया हैक्या माँ मुझे भीमेरे भाई जितना प्यार मुझे भी देतीमुझे अपनी चीजो के लिएजिद करने का अधिकार देतीक्या मेरे पितासचमुच में मेरा दाखिला अंग्रेजी स्कूल में करा देतेमेरा हाथ पकड़ कर मुझे भी आगे बढ़ा देतेअगर मैं लड़की होतातो शायद मुझे भीमेरी बहन की तरहवो सब नहीं मिलताजो मुझे अच्छा लगतावो खाना किचन में ना पकताजो मुझे बहुत पसंद होमेरे घर से बाहर निकलने परमोहल्ले के लड़के मुझ पर भद्दे मजाक करतेहर नजर बाजार में मुझे घूरने को उठतीअगर मैं लड़की होतातो शायद नहीं मनता मेरा जन्मदिन भीना महंगे कपडे ख़रीदे जातेना मुझे मेरा भाईपूरी मिठाई खाने देतामेरे पिता के लिए तो मैं सिर्फ और सिर्फ परेशानी होताकम उम्र में शादी हो जातीमुझ पक्षी से तो उसका घोंसला ही छिन जाता घर घर ना रहता वो तो पिंजड़ा बन जाताअगर मैं लड़की होतातो शायद मैं भीकभी चूल्हे की आग में झोंका जातातो कभी खुद को ही जला देतामैं तो बस घर में रखा सामान होताना खुद के होने का एहसास होताना कोई परिचय होताहर उम्र में मेरा अपमान होतानाम मेरा घर में ही गुमनाम होताअगर मैं लड़की होता—–अभिषेक राजहंस

Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды в день обращения. Взять потребительский кредит онлайн на выгодных условиях в в банке. Получить кредит наличными по паспорту, без справок и поручителей

2 Comments

  1. Madhu tiwari Madhu tiwari 28/02/2018
    • Abhishek Rajhans 28/02/2018

Leave a Reply