उत्थान हर कोई कर रहा है – डी के निवातिया

उत्थान हर कोई कर रहा है


भूखा बचपन, ममतत्व के आँचल में सिमटकर पूछेउत्थान हर कोई कर रहा है, मगर न जाने किसका !!

सुदूर गाँव आज भी बाट जोहताअन्न, सड़के, बिजली, पानी के,बंजर भूमि में माथे हाथ रखकरबैठा किसान सपने देखे धानी केआज भी मूल कर्तव्य,भूख में जान गवाँ देना हो जिसका !ऐसे में हाकिम आकर बताये ज़राआखिर उत्थान हो रहा है किसका ?

भूखा बचपन, ममतत्व के आँचल में सिमटकर पूछेउत्थान हर कोई कर रहा है, मगर न जाने किसका !!

बाल, ग्वाल, सब हुए निढालकई घरो में अभी भी वही कहानी हैकाम काज में उलझा बचपनपिछड़ेपन की बीमारी वही पुरानी हैसाक्षरता जहा पर लंगड़ाती होगूँगा और बहरा बन जाए ज्ञानजिम्मेदार उस देश के नागरिकआकर बताये हुआ उत्थान किसका !

भूखा बचपन, ममतत्व के आँचल में सिमटकर पूछेउत्थान हर कोई कर रहा है, मगर न जाने किसका !!

क्या पूछोगे मेरे देश मेंलोग बड़े ही संस्कारी हैमाता गाय को कहते हैजननी माँ लगे भारी हैयहां होती मूरत में देवी की पूजाऔर खतरे में हर पल रहती नारी हैकोई पूछे ज़रा इन महाज्ञानियों सेकौन करेगा विकास मानसिकता का !

भूखा बचपन, ममतत्व के आँचल में सिमटकर पूछेउत्थान हर कोई कर रहा है, मगर न जाने किसका !!

एक नजर डालो ज़रा गौर सेइर्द गिर्द है उत्तर हर एक सवाल काहम ही कारण है, हम ही कारकदुनिया में उठते हुए हर एक बवाल काजिनका विकास हुआ ज्ञानी हो गएकुछ बेचारे आस लिए ही दफ़न हो गएविकास हुआ भौतिक संसाधनों कामानसिकता आज भी अविकसित खड़ी हैकहीं पे ताकत, कहीं अहम् की दीवार अडी हैखुद में खोया है हर एक मनभुगत रहा है जिसको ये तनजितना सुझाओ कम पडेगामानो न मानो ऐसे न होगा उत्थान किसी का !!

भूखा बचपन, ममतत्व के आँचल में सिमटकर पूछेउत्थान हर कोई कर रहा है, मगर न जाने किसका !!

मात्र सवाल करना मकसद नहींमगर चुप रहना भी कोई धर्म नहींलेखन यदि मेरा कर्म है तो विचार जरुरी हैशब्दों के माध्यम से आवाज़ उठाना जरूरी हैमत- सम्मत हो सबका एक, अन्याय होगाअसत्य से सत्य लड़ेगा, तभी न्याय होगा !देव – दैत्य का संग, बहुत पुराना हैचित्र दिखेगा वैसा, होगा वर्चस्व जिसका !

भूखा बचपन, ममतत्व के आँचल में सिमटकर पूछेउत्थान हर कोई कर रहा है, मगर न जाने किसका !!

***

डी के निवातिया

===

Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды в день обращения. Взять потребительский кредит онлайн на выгодных условиях в в банке. Получить кредит наличными по паспорту, без справок и поручителей

26 Comments

  1. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 21/12/2017
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 21/12/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 16/01/2018
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 16/01/2018
  3. Bhawana Kumari Bhawana Kumari 21/12/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 16/01/2018
  4. Kajalsoni 21/12/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 16/01/2018
  5. अरुण कुमार तिवारी अरुण कुमार तिवारी 21/12/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 16/01/2018
  6. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 21/12/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 16/01/2018
  7. अनुज तिवारी 22/12/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 16/01/2018
  8. C.M. Sharma C.M. Sharma 22/12/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 16/01/2018
  9. Arun Kant Shukla अरुण कान्त शुक्ला 22/12/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 16/01/2018
  10. Bindeshwar prasad sharma Bindeshwar prasad sharma 23/12/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 16/01/2018
  11. Madhu tiwari Madhu tiwari 25/12/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 16/01/2018
  12. सीमा वर्मा सीमा वर्मा 26/12/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 16/01/2018
  13. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 16/01/2018

Leave a Reply