कविता क्या है ? (मुक्ता शर्मा)

कविता क्या है?विचारों की रेलभावनाओं के डिब्बेऔर शब्दों का सार्थक खेललौकिक से आलौकिक तकसच्चाई की जमीन  हो तोक्या कमाल है कविताइस अनुसंधान में अगरशब्द कुछ तीर भी होंशब्द कुछ ओस की बूँदेंतो क्या डरबहने दो निर्झरीरोको मत ,जो रुक गईजो झुक गईनहीं वह सच्ची कवितादे दो शब्दों को उनकी  आजादीउड़ने दो शब्दों को उनकी उड़ानबस शर्त यह है किदेव के चरणों  में बिछनेऔर राक्षस को बेंधने कीक्षमता रखेबस बने सजीव न बने बेजानतो उड़ने दो उड़ने दोन शिथिल हो उड़ान ।।मुक्ता शर्मा

Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды в день обращения. Взять потребительский кредит онлайн на выгодных условиях в в банке. Получить кредит наличными по паспорту, без справок и поручителей

14 Comments

  1. Shishir "Madhukar" 14/09/2017
    • mukta 05/03/2018
  2. babucm 14/09/2017
    • mukta 05/03/2018
  3. ANU MAHESHWARI 14/09/2017
    • mukta 05/03/2018
  4. Ram Gopal Sankhla 14/09/2017
  5. Ram Gopal Sankhla 14/09/2017
    • mukta 05/03/2018
    • mukta 05/03/2018
  6. Bindeshwar Prasad sharma 14/09/2017
  7. डी. के. निवातिया 14/09/2017
    • mukta 05/03/2018

Leave a Reply