हम रात भर सोते नहीं, अगर तूम ख्वाबो मे होते नहीं हकीकत समझ अपनाया है तुझे गलत हो या सही देखकर आंधीयों को अब उजड़ जाने का अब खौफ …

रोना याद आया – डी के निवातिया

रोना याद आया *** रोते हुए देखा पड़ोसी को तो रोना याद आया, जब भूख लगी, तब फ़सल बोना याद आया ! सोया था पैर पसार कर, बड़े ही …

तेरी भी खता है – डी के निवातिया

तेरी भी खता है *** ख़ुदा की रज़ा क्या है ये किसे पता है, किसी और को दोष देना बड़ी धता है! जो भी हुआ है सबक ले कुछ …

सुरूर अच्छा नहीं होता – डी के निवातिया

सुरूर अच्छा नहीं होता *** हुस्न पर शबाब का सुरूर अच्छा नहीं होता, खूबसूरती पर करना गुरुर अच्छा नहीं होता, पानी के बुलबुले की तरह होती है ये जिंदगी, …

हार ने मुझसे यूं पूछा l

हार ने मुझसे यूं पूछा कि जीतोगे अब तुम कैसे हमनें भी मुसकरा कर कह दिया मानूंगा नहीं आसमां फेला है जैसे कोशिश आगे बिखर जायेगा तू ऐसे जैसे …

भक्ति छंद “कृष्ण-विनती”

भक्ति छंद “कृष्ण-विनती” दो भक्ति मुझे कृष्णा। मेटो जग की तृष्णा।। मैं पातक संसारी। तू पापन का हारी।। मैं घोर अनाचारी। तू दिव्य मनोहारी।। चाहूँ करुणा तेरी। दे दो …

धार छंद “आज की दशा”

धार छंद “आज की दशा” अत्याचार। भ्रष्टाचार। का है जोर। चारों ओर।। सारे लोग। झेलें रोग। हों लाचार। खाएँ मार।। नेता नीच। आँखें मीच। फैला कीच। राहों बीच।। पूँजी …

हर मुश्किल को हल करता है

दिल को यूँ बेकल करता है, जज्बातों से छल करता है। बिधना की यह सृष्टि सारी, तू क्यों फेरबदल करता है। जो देता है दृष्टि लक्ष्य क, वो ही …

लक।

मे तूझमे मिलती अगर तूझमे कल वाली वो तलब होती, तू किसी ओर कि बालों .का फूल है अब वरना तेरे संग तो मे खूदा तक रहती। हर आंसुओं …

वक़्त ही तो है गुजर जाएगा – डी के निवातिया

वक़्त ही तो है गुजर जाएगा *** आज बुरा है, कल अच्छा होगा आज अकेला, कल गुच्छा होगा बदलती है हर पल उसकी लीला, कब कसे डोर, कब कर …