Category: नीलोत्पल

रिश्ते सीढ़ियों की तरह

रिश्ते सीढ़ियों की तरह हैं कोई चढ़ता है, कोई उतरता है लेकिन लाजवाब बात है दोनों ही सूरतों में आदमी ख़ूब जीता है क्यों सीढ़ियाँ लक्ष्य तय नहीं करतीं …