Category: मंजरी सिन्हा ‘मंजूषा’

इन्वेस्टमेंट

इन्वेस्टमेंट ने किया ऐसा कमाल , लोगों को कर दिया रातों रात मालामाल, लोगों ने हमें भी समझाया , कि सुरक्षित भविष्य के लिए , इन्वेस्टमेंट बड़ा ही जरुरी …

संतोष- एक चिड़िया

कविता तो मैं बहुत सुना चुकी, अब मैं अपनी कुछ कहानियां, कविता की जुबानी सुनाती हूँ. आप सोच रहे होंगे , कि मंच है काव्य का , और मैं …

हाँथ की लकीरें

लोग कहतें हैं ,कि हमारी किस्मत, हमारी हाँथ की लकीरों से बदलती है , कुछ यह भी कहतें हैं , कि हमारी किस्मत , हमारे कर्मों से ही है …

ख्वाहिशें

ख्वाहिश है , कि हर बच्चा हँसता , खिलखिलाता रहे , कि उसकी हँसी, मतलबहीन प्रतियोगिताएँ न छीन लें। ख्वाहिश है, कि छोटा होता बचपन इतना न हो जाए …

हार्ट एनलार्ज

कुछेक पंद्रह सोलह साल पहले की ही बात है , मेरे डॉक्टर ने कहा था , मैडम आपका हार्ट एनलार्ज है , इलाज करवा लीजिये, भविष्य में समस्या हो …

मेरा सपना

मैने गणतंत्र दिवस पर अपनी कॉलोनी में बच्चों के लिए दौड़ प्रतियोगिता का आयोजन कुछ सालों तक किया था और निम्नलिखित कविता भी उसी मौके पर बच्चों को सुनाने …

चाहतें

चाहतें बर्फ हुई जाती हैं , तमन्नाएँ क्यों पिघलती जाती हैं, लक्ष्य क्यों जा छिपे पहाड़ों पर , कोशिशें क्यों सिमटती जाती हैं। चाहत थी हम भी कुछ कर …

हर साथ जरुरी होता है

जिंदगी के मुस्कराने को, हर साथ जरुरी होता है अपनी मंजिल तक पहुचाने को , हर हालात जरूरी होता है। जो ऊंची उड़ान दे सके आपको , हर सपनो …

आदमी बन्दर हो जायेंगे

बचपन में पढ़ा करते थे, पानी भाप बन जाता है, और भाप फिर से पानी में परिवर्तित, इसे ऐवपोरशन कहतें हैं, बचपन में पढा करते थे, हमारे पुर्वज बंदर …