Category: कृतिका भाटिया

Ouch! It hurts

कभी भी, इस नाज़ुक दिल को न दुखाना। क्योंकि इसकी मरम्मत के लिए, लगेगा एक पूरा ज़माना। इसे नज़रअंदाज़, करने की हिम्मत न करना। क्योंकि यह दिल, दूसरे दिलों …

एक महिला की ताकत

उसूल बने है, तोड्ने के लिए। परिवार बना है, जोड्ने के लिए। एक महिला अपना सब कुछ त्याग कर, आती है घर बसाने के लिए। एक मकान को, स्वर्ग …

मोहब्बत

इस एह्सास को, दबाकर नही रखते, झलकने दो इसे, अपने चेहरे पे। जितनी मोहब्बत करोगे, इस दुनिया से, उतने ही सन्तुष्ट रहोगे, किसी भी बात पर दुखी नही रहोगे। …

गोदी

जब कभी, आँख लगती थी मेरी, मै, सो जाती थी | क्या पता, क्या हो जाता था मुझे, दिल-ही-दिल मे, घबरा जाती थी |   आंसू, बहते थे आँखों से, तेरे पल्लू से, पोछ  देती थी उसे |   गोदी, मे सो जाती थी मै, लोरी, को सुनती थी मै | …

इश्क की धुन

इश्क की धुन, रोझ जगाये, गेह्र्र्र्र्री नीन्द को भी, येह झट से भगाये. येह धुन है मीठी, शह्द जैसी, जो कोई इसे सुन्ता है, वो अप्ने मन मे केह्ता है. “वाह, क्या धुन है, इस धुन को बजने देना सदा, कभी भी इस धुन को, बन्द न होने देना.” अगर हो किसे, कोई दुख या परेशानी, वो इस धुन को सुनकर, भूल जाये ये दर्द भरी झिन्दगी. खुश रेह्ने के लिए, है अलग-अलग रास्ते, येह धुन तुम्हे उस रास्ते पर ले जाएगा, जहा तुम्हे मिलेगी हर काम मे सफलता.