Category: करिश्मा

प्रेम

क्यों होता है बार-बार पास रहकर भी पास न तुम, क्यों लगे जैसे कि यहीं कहीं हो तुम, ह्रदय में जो बसे तुम्हारा जो प्यार, हर बार तुम से …

रात का समय

निहारती हुई…., आसमान को आज शाम को, देखती हुई ,बैठती हुई, इस सुन्दर सा आकाश जो, इस सुन्नेहले पल को कहीं थम न जाए, सूर्य को डूबती हूई…. देखती …