Category: अंजु वर्मा

ऐसा भी क्या माँग लिया था???

वो आँखें…….. कितना कुछ सुना गईं ….   कितने तंज़ कितनी रंजिशें कितनी मिन्नतें कितनी मन्नतें एक अधूरा ख़्वाब एक पूरा इंतज़ार एक ढलती रात एक डूबता दिन   …