Category: मु. जुबेर हुसैन

ऐ जाते हुऐ लम्हे…(गज़ल)

ऐ जाते हुऐ लम्हें(गज़ल) ऐ जाते हुऐ ठहर क्यू नहीँ जाता जो बीत चूका हैं वो गुज़र क्यू नही जाता ना चाहते हुऐ भी ढूँढती क्यू हैं निगाहें किया …

सबसे प्यारा देश हमारा

सारी दुनिया में ऐसा देश नही ऐसा रंग रूप नही ऐसा भेष नही जो प्यारा हैं सबसे न्यारा…… वो देश तो हैं हमारा सबसे प्यारा देश हमारा……. न जात-पात,न …

***चिड़िया***

सबसे अच्छी लगती चिड़िया प्यारी-प्यारी लगती हो कितनी अच्छी लगती हो,जब तिनके से सुन्दर घर बनती हो आती बैठ झरोखे पर फिर तिनका रख जाती हो मटक-मटककर,फ़ुदक-फुदककर चह-चहकर मीठी …

फूल

रंग-बिरंगी फूल खिले हैं देखो इस बागो मे कितनी प्यारी-प्यारी लगते फूल कितना मनोरम लगते, भौरे भी गुनगुना कर इन्हें मीठी गीत सुनातश , सब झूमते सब गाते इस …

तेरी मेरी कहानी हैं

एक प्यार का नगमा हैं, मौजो की खानी हैं, जिन्दगी और कुछ भी नहीं, तेरी मेरी कहानी हैं……….. एक अनोखा सपना हैं, कुछ अनकही बाते हैं, आने वाली उस …