Category: सुरजीत श्रवण

मेरे गुनाह

मुझमे समाने से पहले एक बार मेरे गुनाहों को देख लेना क्योंकि मुझमे मेरी ऊम्र से ज्यादा मेरे गुनाह मिलेंगें।। मुझको चाहने से पहले एक बार सोच लेना क्योंकि …