Category: सुनील कुमार लोहमरोड़ ‘सोनू’

दूरियां मिट जाने दे

दूरियां मिट जाने दे भर लेने दे बाजुओं में इस दिल को अब बेकरार ना रहने दे। छू लेने दे इन नाजूक होठों को, इन्हें छू लेना, अब एक …

काश कोई एक खुशी का लम्हा

काश कोई एक खुशी का लम्हा, मेरी जिन्दगी में लौटकर चला आये। मैं बरसात में रो लूं और, आँख का पानी बरसात में मिल जाये। ये दिल खुशी से …

अनकही बातें

अनकही बातें ये उलझी हुई तस्वीर है, सुलझाई ना जा सकेगी अब, ये बिगड़ी हुई तकदीर है, बनाई ना जा सकेगी अब। ये किसी की मर्म वेदना है, खुशी …

हाल-ए-दिल (तीन शायरी)

___________________(१)__________________ उसकी बातों में छल, सीरत में फरेब आ गया है अब, बहुत बुरा देखा था अंजाम, वो करीब आ गया है अब। बर्बाद हैं हम, हमें बर्बादी का …

हाल-ए-दिल (चार शायरी)

____________(१)_____________ तुझे पाने की कोशिश में हम कसूरवार बन बैठे, तेरे लिए हम सारे ज़माने के कसूरवार बन बैठे । तेरे प्यार के लिए सारे ज़माने को रुसवा कर …

अकेली हस्ती

हमें उसकी मुहोब्बत उसकी वफ़ा रुलाती है, उसे भूलूं तो वो पगली ज्यादा याद आती है। गैरों की पनाहों में देख कर उनको, दिल सिसकता है मेरा, आँख भर …

नहीं आता

कहते हैं कुछ लोग, हमें प्यार करना नहीं आता, अच्छे लोगो पर हमें, ऐतबार करना नहीं आता। किसी की दुआएं मरने भी नहीं देती हमें और, कहते हैं लोग, …

—इस राजस्थान से—

—————-इस राजस्थान से———– ……………….ये गर्मी की तेज लू, ……….हर कोई इनसे दुखी, हर प्राणी परेशान, ………….दूर दूर तक फैला रेगिस्तान, …………पेड़-जल का नहीं नमो-निशान, ..फिर भी अच्छा है सबसे, …

देख लेना

मंजिल खुद बिखेरेगी रोशनी, धुंधली आँखें साफ करके देख लेना। हिम्मत रखना हमेशा अपने साथ, हिम्मत काम बनती है आजमा कर देख लेना । जब कोशिश करते करते थक …

तुझे भी है

मेरी बेपनाह मुहोब्बत के असर से, तड़पन तुझे भी है, मुहोब्बत ना सही पागल, पर मुझसे, लगन तुझे भी है । तुम खुद को रोक नहीं पाते, मुझसे प्यार …

हम तो हारे हैं

कभी खुद से हरे हैं, कभी जिंदगी से हारे हैं, कभी जीना चाहा, कभी जी कर हारे हैं । कभी गैरों ने सताया, कभी अपनों ने पत्थर मारे हैं, …

उसे सिखा दूँ

खवाबों की एक पतवार, आई है मेरे द्वार, मेरे अरमां अधूरे, उसको कैसे पनाह दूँ? एक शख्स सोया है दुनिया से बेखबर, अधूरी नींद से भला, उसको कैसे जगा …