Category: शशिकांत शांडीले

==* उनका क्या कर पायेंगे *==

गद्दारों को पकड़ पकड़ कर कैसे मार गिरायेंगे छुपकर बैठे दामन में माँ के उनका क्या कर पायेंगे खैर वो तो दुश्मन, दुश्मन ठैरे आतंकवाद बढायेंगे अपने भाई जो …

==* अश्क बहाये मैने तुमने *==

अश्क बहाये मैने तुमने इश्क कितना हमको सताये चाहत कैसी हम दोनो की क्यू तडपाये इतना रुलाये अश्क बहाये मैने तुमने !! सारी उमर का साथ नही ये दर्द …

==* स्वतंत्रता दिवस *==

बड़े शिद्दत से चंद दिन हिंदुस्तान याद किया जायेगा फिर हमेशा की तरह हिंदुस्तान भुला दिया जायेगा होली दिवाली की तर्ज पर स्वतंत्रता दिवस मनाया जायेगा फिर हमेशा की …

==* कैसे कह दे की बावफा है जिंदगी *==

अब ना उम्मीद-ए-वफा है जिंदगी ! जानें क्यों मुझसे खफा है जिंदगी !! यूँ तो शिकायत नही अब किसी से ! अपने ही वजुद से जफा है जिंदगी !! …

==* मेरी मोहोब्बत *==

माना की हसीं वहम है मोहोब्बत मगर बड़ी ही बेरहम है मोहोब्बत चाहते भी क्या थी इस नादाँ दिलकी वफ़ा में जो पाया जख्म है मोहोब्बत चाहो भी शिद्दतसे …

कान्हा ना रंगयो ………..

रंगभरी पिचकारी कान्हा ना रंगयो मोहे ना रंगयो मेरी चुनर ना रंगयो कान्हा ना रंगयो मोहे ना रंगयो तोहे न कोई लाज लज्जा रे कान्हा गोपियन के पीछे तू …

==* रुकना चाहता हु *== (गजल)

रोकले कोई अगर तो रुकना चाहता हु दिखे खुदा अगर तो झुकना चाहता हु ख़त्म हुए महफ़िल जमाना गुजर गया उनकी आग़ोश में फिर उड़ना चाहता हु बुझ गई …

==* तुही जिंदगी *==

तू छोड़ दे तेरी अधूरी मोहोब्बत मै मेरी मोहोब्बत युही निभाता हु बेवफाईको तेरे वफ़ा जानकार मै हसकर गमको गले से लगाता हु गुजरे जमाने जो संगतमें तेरे लम्होंको …

==* वक्त की मार *== (गजल)

वक्तकी मारसे मै पनाहगार हो गया सपने देखकर मै गुनहगार हो गया न थे मंजिल-ए-सुराग लिखे कहीपर दिलको अपने ही मै मदतगार हो गया मोहोब्बत ही बाटी सारी उम्र …

==* सफ़र हो आसाँ *== (गजल)

टूटने लगे पैमाने तकलीफ-ए-हयात के दिखते है छुपे आँसू सूरत-ए-नकाब के फितरत न सही इंसान है तेरे अंदर ही डरना क्यू मनमे है खयाल-ए-ईमान के भूल जाए दास्ताँ इतनी …