Category: शशाँक हिरकने

आपको क्या पता,आपको क्या खबर

हम है तन्हा इधर,आप हो बेफिकर, नींद आई नही आज भी रात भर, हाल क्या है हमारा इश्क मे आपके, आपको क्या पता,आपको क्या खबर। आपको क्या पता,आपको क्या …

कब तक सहेगी और अत्याचार बेटियाँ

सूने से जो आंगन मे रंगोली सजा दे, चाहे वो जिस दिन को भी दिवाली बना दे, हर एक दिन को बेटियां त्योहार बना दे, मामूली घर मे खुशियो …