Category: सत्येन्द्र श्रीवास्तव

फागुनी हवाओं के पीताम्बरी फूल

पके हुए खेतों के आर पार बसंती हवाओं से जूझते अलग अलग तने खड़े सिहरती लताओं से घिरे फागुनी हवाओं के फूल क्या नाम विशेष दूं इन्हें किस के …