Category: संजीव कालिया ‘संजू’

रोजगार मिले तो सुकून मिले

बेरोजगार हूँ l रोजगार मिले तो कुछ सुकून मिले भले ही कोमल हाथ सख्त हो जाए, छाले पड़ जाए, काले हो जाए चाहे मेरे कपड़े l नीरस जिन्दगी में …