Category: राकेश रंजन कर्ण

न जाने किसे पुकारता हूँ !

  न जाने किसे पुकारता हूँ. “खुदा नहीं है ” ये औरों से कहता हूँ. ‘ख़ुद’ न जाने किसे पुकारता हूँ . मंदिर – मश्जिद, गिरजे – गुरूद्वारे, माथा …