Category: पियुष राज

मेहनत करना सीखो….-पियुष राज

मेहनत करना सीखो… जरुरी नहीँ की सफलता एक बार में हासिल हो पहले तुम देखो तुम कितना उसके काबिल हो बार-बार असफल होने पर भी ना हो कभी निराश …

नववर्ष की बधाई….-पियुष राज

नववर्ष की बधाई… दुनिया आगे बढ़ती रही बढ़ती रही समय की चाल खट्टी-मीठी यादों के साथ बीत गया यह साल… कुछ पाया ,तो कुछ खोया कभी हँसा ,तो कभी …

डिजिटल क्रांति का दौर…-पियुष राज

  डिजिटल क्रांति का दौर… विकसित होने की राह में बढ़ रहा है भारत देश सारे लेन-देन होंगे अब से कैशलेस सारी सुविधाएं ऑनलाइन होंगी अब नही लगेगा कतार …

मेरे हर दर्द की ,तू ही एक दवा है…(Part-1)–पियुष राज

मेरे हर दर्द की ,तू ही एक दवा है… Part-1 चाहे क्यों ना दे ये दुनिया कितने भी जख्म मुझे मुझसे जुदा नहीँ कर सकता कोई भी तुझे ये …

मत बैठो कभी खाली…-पियुष राज

मत बैठो कभी खाली… अपने जीवन में खुशियों की तुम बढ़ाते रहो डाली कुछ-ना-कुछ करते रहो मत बैठो कभी खाली अपने जीवनकाल में जो समय को व्यर्थ गवांते वे …

काला-धन पर वार–पियुष राज

काला-धन पर वार मोदी के एक तीर ने हर भ्रश्टाचारियो को कर दिया पूरा घायल देश की सारी जनता हो गई उनकी कायल बोरे भर-भर रखे थे जिसने हज़ार-पांच …

सुन लो पाकिस्तान……पियुष राज

सुन लो पाकिस्तान…. एक के बाद एक हमला कर लहू बहाया तूने भारत माँ के लाल का भारत देगा जवाब अब तेरे हर चाल का पाकिस्तान कान खोलकर सुन …

हमारे वीर जवान –पियुष राज

हमारे वीर-जवान जब जब दुश्मनो ने हमारे देश पर आँख उठाया है तब तब हमारे वीर जवानो ने देश की रक्षा के लिए अपना लहू बहाया है घर परिवार …

मेरे गुरु–पियुष राज

मेरे गुरु हाथ पकड़कर जिसने मुझे पढ़ना-लिखना सिखाया भाषा-अक्षर का बोध जिसने मुझे कराया दुनिया के साथ कदम मिलाकर जिसने चलना सिखाया जिसने की मेरी जिन्दगी शुरू वो है …

संकल्प-पियुष राज

संकल्प देश को आगे बढ़ाने का देश के लिए कुछ कर जाने का आओ मिलकर संकल्प करें भारत को साक्षर बनाना है हर बच्चे को स्कूल पहुँचाना है बेटा-बेटी …

सबकी अपनी सोच-पियुष राज

सबकी अपनी सोच के रंग अलग हैं,रूप अलग हैं अलग हैं सबकी सोच आपका जीवन कैसा होगा तय करेगी आपकी सोच सकारात्मक सोच वालों का सपना होता हैं साकार …

हमारा प्यारा हिन्दुस्तान-पियुष राज

हमारा प्यारा हिंदुस्तान सबसे अलग है जिसकी पहचान जिस पर है हम सब को अभिमान जिसकी है हम सब संतान वह है हमारा हिंदुस्तान हिन्दु, मुस्लिम,सिख,ईसाई आपस में है …

धरती माँ की पुकार-पियुष राज

धरती माँ की पुकार मच गया है हाहाकार धरती मां की सुनो पुकार मत काटो तुम पेंड़ो को बंद करो ये अत्याचार होती है तकलीफ मुझे जब काटते तुम …

ये कैसी आजादी है? -पियुष राज

ये कैसी आजादी है मिल गई आजादी हमको पर ये कैसी आजादी है चारों तरफ है भ्रष्टाचार हर जगह महंगाई है आज भी आजाद नहीं हैं हमारे देश की …

स्मार्टफोन का युग -पियुष राज

स्मार्टफोन का युग एक जमाना ऐसा था जब नहीं था कोई फोन बदल गयी पूरी दुनिया जब से आया स्मार्टफोन जब करनी हो किसी से मुलाकात चाहे दिन हो …

एक सवाल -पियुष राज

एक सवाल अचानक मेरे मन मेँ एक सवाल आया भगवान् ने इस दुनिया में इंसान को क्यों बनाया इस दुनिया में लाने को माँ को आधार बनाया रिश्ते-नाते जोड़कर …