Category: नील कंठ

तैसी चख चाहन चलन उतसाहन सोँ

तैसी चख चाहन चलन उतसाहन सोँ , तैसो बिवि बाहन बिराजत बिजैठो है । तैसो भृगटी को ठाट तैसोई दिये लिलाट तैसोई बिलोकिबे को पी को प्रान पैठो है …