Category: नासिर अहमद सिकंदर

रिमिक्स

वह बहुत पुराने– यादगार गीत पर नृत्य कर रही गीत के बोल- शब्द वही पुराने अर्थ वही नहीं गायन से गायब गायिकी-अंदाज संगीत से राग सुरताल-थाप झंकार नृत्य से …

रत्ना मैडम की ड्रैस

नीली साड़ी में है आज रत्ना मैडम नीली साड़ी को यदि कोई नीला आकाश कह दे तो उस आकाश का चांद है रत्ना मैडम उसकी अन्य पोशाकों में एक …

भ्रूण परीक्षण

मेरे सामने की बर्थ पर था उनका परिवार माँ और दो बच्चियाँ बड़ी बच्ची का चेहरा हुबहू माँ की तरह गोल चांद सरीखा छोटी का बड़ी बहन से मिलता-जुलता …

भूलवश और जान-बूझकर

कुछ चीज़ें छूटतीं हमसे भूलवश कुछ छोड़ते जान-बूझकर छाता, स्वेटर, रूमाल, चश्मा, किताब चाबियाँ, कंघी, पैन और भी कई चीज़ें छूटतीं भूलवश माचिस की खाली डिब्बी पैकेट सिगरेट खाली …

नखशिख वर्णन नहीं

उसका चेहरा गोल आँखें सीपियाँ नावनुमा भौंहें होंठ लिपस्टिक बिन लाल नाक दूर से देखी पहाड़ी का उभरा कोना यह कविता में– नखशिख वर्णन नहीं उसके गाल जिसमें तिल …

क़िताब का कवर

कविता की क़िताब या कहानी, उपन्यास स्कूल-पाठ्यक्रम या धार्मिक क़ीमती अथवा सस्ती कवर ज़रूर चढ़े पुराना अख़बार कलेण्डर पुराना बाज़ार में उपलब्ध या काग़ज़ ख़ाकी यह कवर ही जो …

अनुकंपा में सर्विस करती परवीन बानो

अभी वह यानि कि परवीन बानो फाइलों के बीच घिरी है फाइलों में जमी हैं अभी उसकी आँखें यह संयोग ही है– मैं उसे बचपन से जानता हूँ क्योंकि …