Category: कवि नरेश पटेल

नादान

मैं हूँ बालक नादान, नाम है मेरा प्रज्ञान। परिवार है मेरा पायदान, रहना नहीं है मुझे अज्ञान । पढ़कर बनना है सुजान, कोई न केवे यह है अज्ञान । …