Category: मोहित कुमार

नादान परिंदे! घर आजा??

कई दिन तक परिंदा अपने घर पर क्यों नहीं लौटा? कि उसने सोच रक्खा था,उम्मीदें सबकी उससे हैं, उसे मालूम था माँ-बाप उसके ही भरोसे हैं, बहन के हाथं …