Category: मयूर सिंधा

कहीं ना कहीं……

आपसे है रिश्ता कोई…… जैसे खुदा का फरमान कोई.. चाहत मेरी आपके लिए बदनाम कहीं.. लेकिन दिल मे है तेरे अरमान कहीं.. जिंदगी का सफ़र एक तरफ़ा मेरा… चाहत …

एक सुन्हेरी शाम,तेरे प्यार के नाम

” एक सुन्हेरी शाम,तेरे प्यार के नाम कबसे था इंतज़ार लेकिन क्या पता था वो यूँही ढल जाएगी . एक सुन्हेरी शाम,तेरे प्यार के नाम” ” साथ यूँ तुम्हारे …

एहसास कुछ अनकहे

” एहसास कुछ अनकहे सही, अनकही दिल की दास्तान, जिंदगी एक सुन्हेरी पहेली , सुन्हेरा ये आसमान .” “दिल तो हैं छोटा सा नादान चाहतें उसकी बेशुमार. दिल आज …