Category: लालजी सिंह यादव

रचना

रचना जब भगवान ने इंसान बनाया होगा, उत्तम रचना मेरी, अरमान सजाया होगा। मस्तिष्क गढ़ा होगा ब्रह्माण्ड के नजरिये से, कुछ दुर्लभ न हो इंसान की इन्द्रियों से। भिन्न …