Category: कुमार मुकुल

फेशबुक – एक आत्‍मालोचना

अपना चेहरा उठाए खडे हैं हम बारहा मुकाबिल आपके अब आंखें हैं पर द़ष्टि नहीं है मन हैं पर उसकी उडान की बोर्ड से कंपूटर स्‍क्रीन तक है काम …

चरवाहे शहंशाह बन सकते हैं

चरवाहे शहंशाह बन सकते हैं बने हैं शहंशाह शहंशाह बन नहीं सकता चरवाहा चाहकर भी तानाशाह बन सकता है वह भोला-भाला व्‍यक्ति बन सकता है पंडित ज्ञानी विराट ज्ञानी …