Category: जीवन शुक्ल

माँग रहा लेकर कटोरा

माँग रहा लेकर कटोरा भटक गई किस्मत का सावधान छोरा। ढकी मुँदी आँखों के कजरारे द्वार इकतारी काया के कर का प्रस्तार टूट नहीं पाता है अम्बर का धीर …