Category: जयन्त प्रकाश धमोड़

मैं सोने जा रहा हूँ

मैं सोने जा रहा हूँ, तूम्हारी यादों में खोने जा रहा हूँ, हो सके तो मेरे ख्वाबों में आना, आ के ज़रा मुझे सताना, फिर तुम वैसे ही मूस्कुराना, …