Category: हर्ष कुमार सेठ

“एक सफ़र” – दुर्गेश मिश्रा

– एक सफ़र देखे मैंने इस सफर में दुनिया के अद्भुत नज़ारे, दूर बैठी शोर गुल से यमुना को माटी में मिलते | की देखा मैंने इस सफर में….. …

ज्ञान की पढाई

बङी-बङी पढाई तुम्हें अच्छा उठाएगी पर, ज्ञान की पढाई जिन्दगी भर साथ निभाएगी। प्रातः उठना जल्दी सोना बङे बूढों के पाँव छूना बात-बात पर मुस्कुराना होगा ये तो सिर्फ …