Category: गंगा प्रसाद विमल

संगीत सुनते युद्धबंदी

भूल चुके वे कैसे किया जाता है जीवन वे जानते हैं कैसे मरते हैं. और अब वे छाया की तरह रास्ते पर चलते हैं आदेश से रुकते हैं हुक्म …

एक छोटा गीत

अन्तहीन घासीले मैदानों पार मेरे और तुम्हारे बीच बहती है दर्द की वोल्गा और वहाँ हैं ऊँचे किनारे. वहाँ है एक ऊँचाई वहाँ एक भयंकर शत्रु…. वहाँ वहाँ से …

स्व चित्र

देर गये पेरिस के कला क्षेत्र मेरे टूटे अंधेरे. अभी पीड़ित करते हैं. अभी बरसता है और दुबारा कहवा घर में घुसता है कलाकार उलझती हैं आँखें उस सुंदर …