Category: गणेश दत्त जोशी

धरती के मनुष्य पर उपकार

सरल नही अबोध है ये धरती इस पर जो जन्माओं व देती सोना धरती नील अंम्बर की छबियां पर रह गुजर करती धरती पल-पल जिनकी भूख मिटाती प्यास बढ़ाती …